PM किसान सम्मान निधि योजना क्या है, किन किनको मिलेगा इसका लाभ, कौन कौनसे कागज की होगी आवश्यकता:-

आज के इस आर्टिकल में हम PM किसान सम्मान निधि योजना के बारे में फूल डिटेल जानेंगे इस आर्टिकल को लास्ट तक यानिकी पूरा पड़ें. मोदी सरकार ने किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना योजना का ऐलान किया था, जिसे सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में भी जारी रखा है.

किसान सम्मान निधि योजना का लाभ देश के सभी छोटे सीमांत किसानों को मिलेगा. जिनके पास बहुत ज्यादा जमीन न हो जी हा जिनके पास कम जमीन है इस सुविधा का लाभ उन लोगो को ही मिलने वाला है. इस योजना के अंतर्गत सरकार किसानों को खाते में सालाना 6,000 रुपए जमा करेगी। ये 6,000 तीन किस्तों में किसानों के खाते में जमा होंगे।

इस योजना का लाभ देश के 14.5 करोड़ किसानों को लाभ मिलेगा।इस योजना का लाभ सभी किसानों को देने का फैसला 31 मई को सरकार की पहली कैबिनेट बैठक में किया गया गया था. इससे पहले इस योजना में 5 एकड़ से कम जमीन वाले किसानों को ही रखा गया था। लेकिन अब यह सीमा हटा ली गई है। भाजपा ने लोकसभा चुनाव के घोषणा-पत्र में इसका वादा किया था.

इन सभी लोगो को नहीं मिलेगा इस योजना का लाभ :-

 

इस योजना का लाभ जिन लोगों को नहीं मिल सकेगा उनमें संस्थागत भूमि धारक, संवैधानिक पद संभालने वाले किसान परिवार, राज्य/केंद्र सरकार के साथ-साथ पीएसयू और सरकारी स्वायत्त निकायों के सेवारत या सेवानिवृत्त अधिकारी और कर्मचारी शामिल हैं। डॉक्टर, इंजीनियर और वकील के साथ-साथ 10,000 रुपए से अधिक की मासिक पेंशन पाने वाले सेवानिवृत्त यानि सरकारी नौकरी पेंशनभोगियों और अंतिम मूल्यांकन वर्ष में आयकर का भुगतान करने वाले पेशेवरों को भी योजना योजना का लाभ नहीं मिलेगा.

इस योजना का लाभ लेने के लिए इन कागजो को ज़रूरी माना गया है:-

इसके लिए दो सबसे महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट्स खसरा और खतौनी है. यानी राजस्व रिकॉर्ड, जिससे पता चलेगा कि आप किसान हैं। जो खसरा खतौनी पटवारी द्वारा बनाई जाती है. इसमें खेती की जमीन की पूरी जानकारी होती है.
अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी समझ में गई हो और आपको अच्छी लगी हो तो हमे Comment करके बताइये सभी के साथ शेयर करे.धन्यवाद…

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!