1 – 29 अक्टूबर, 1971 पहला ईमेल भेजा गया था, यानि इस दिन ईमेल का जन्म हुआ था।

2 – पहला ईमेल संदेश था “QUERTYIOP” चौंकिये मत यह कोई विशेष कोड नहीं बल्कि यह आपके QUERTY की-बोर्ड की ऊपर वाली लाइन हैं।

3 – पहला ईमेल अमेरिका के कैम्ब्रिज में एक कमरे में रखे दो कंम्यूटरों के बीच भेजा गया था।

4 – इस ईमेल को रे टॉमलिंसन ने भेजा था, यह अपरानेट में काम करते थे।

5 – रे टॉमलिंसन ने अपने पहले ईमेल में ही एट चिह्न (@) या एट प्रतीक प्रयोग कर लिया था।

6 – इतना सब होने के बाद भी इस संदेश को ईमेल का नाम नहीं मिला था, यानि ईमेल को अपना औपचारिक रूप नहीं मिला था।

7 – वर्ष 1978 में भारतीय मूल के अमेरिकी अय्यदुरई ने कंप्यूटर प्रोग्राम तैयार किया जिसे “ईमेल” का नाम मिला। आपको जानकार आश्चर्य होगा कि उस समय अय्यदुरई की उम्र महज 14 साल थी।

8 – उनके ईमेल प्रोग्राम में वह सभी फीचर थे जो आप भी यूज होते हैं जैसे – इनबॉक्स, आउटबॉक्स, फोल्डर्स, मेमो, अटैचमेंट्स आदि।

9 – अय्यदुरई को 1978 में उनकी खोज के लिए अमेरिका में कॉपीराइट दिया गया।

10 – 3 मई 1978 को पहला स्पैम मेल भेजा था। यह मेल डिजिटल इक्यूपमेंट कॉरपोरेशन के गैरी थ्यूर्क ने अपरानेट की मदद से 393 लोगों को भेजा था।

11- 29 अक्टूबर, 1971 पहला ईमेल भेजा गया था, यानि इस दिन ईमेल का जन्म हुआ था। 

12- पहला ईमेल संदेश था “QUERTYIOP” चौंकिये मत यह कोई विशेष कोड नहीं बल्कि यह आपके QUERTY की-बोर्ड की ऊपर वाली लाइन हैं।

13- पहला ईमेल अमेरिका के कैम्ब्रिज में एक कमरे में रखे दो कंम्यूटरों के बीच भेजा गया था। 

14- इस ईमेल को रे टॉमलिंसन ने भेजा था, यह अपरानेट में काम करते थे। 

15- रे टॉमलिंसन ने अपने पहले ईमेल में ही एट चिह्न (@) या एट प्रतीक प्रयोग कर लिया था। 

16-इतना सब होने के बाद भी इस संदेश को ईमेल का नाम नहीं मिला था, यानि ईमेल को अपना औपचारिक रूप नहीं मिला था। 

17- वर्ष 1978 में भारतीय मूल के अमेरिकी अय्यदुरई ने कंप्यूटर प्रोग्राम तैयार किया जिसे “ईमेल” का नाम मिला। आपको जानकार आश्चर्य होगा कि उस समय अय्यदुरई की उम्र महज 14 साल थी।

18- उनके ईमेल प्रोग्राम में वह सभी फीचर थे जो आप भी यूज होते हैं जैसे – इनबॉक्स, आउटबॉक्स, फोल्डर्स, मेमो, अटैचमेंट्स आदि। 

19- अय्यदुरई को 1978 में उनकी खोज के लिए अमेरिका में कॉपीराइट दिया गया। 

20- 3 मई 1978 को पहला स्पैम मेल भेजा था। यह मेल डिजिटल इक्यूपमेंट कॉरपोरेशन के गैरी थ्यूर्क ने अपरानेट की मदद से 393 लोगों को भेजा था। 

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!