पिछले साल जून में पंजाब सरकार ने वहाँ के किसानों को राहत देते हुए उनके कर्ज माफ़ करने की घोषणा की थी। अपनी घोषणा के 6 महीने बाद सरकार उसपर अमल करने जा रही है, और जल्दी ही पंजाब में उपस्थित सरकार किसान कर्ज माफी योजना की शुरुआत करके किसानों देगी।

किसान कर्ज माफ़ी योजना की लांच डिटेल:-

  • योजना का नाम:- किसान कर्ज माफी योजना/ फसल ऋण मोचन माफी योजना उत्तर प्रदेश

  • योजना की घोषणा की गयी:- राज्य के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के द्वारा

  • घोषणा की दिनांक:- जून 2017।

  • लांच होने की दिनांक:- 7 जनवरी 2018

  • यह योजना सुपरवाइज़ की जाएगी:- राज्य में उपस्थित किसान कल्याण विभाग द्वारा

  • सर्वप्रथम यह योजना यहाँ लांच की जाएगी:- मानसा, बठिंडा, फरीदकोट, मुक्तसर और मोगा जिलों में

  • योजना की टारगेट:- जनता प्रदेश के किसान

  • इस योजना की ऑफिशियल वेबसाइट:- https://punjab.gov.in/

इस योजना के संबंध में मुख्य बातें:-

  1. प्रदेश के किसानों को सशक्त बनाना:- इस योजना को लागू करने का सरकार का मुख्य उद्देश्य, प्रदेश के गरीब किसानों द्वारा लिए गये कर्ज में राहत देकर उनकी स्थिति में सुधार करना है।

  2. छोटे व बड़े किसानों को वित्तीय सहयोग:- इस योजना के द्वारा प्रदेश में उपस्थित किसानों को उनके द्वारा लिए गये ऋण को चुकाने के लिए निश्चित राशी दी जाएगी, जिससे प्रदेश के लगभग 10.25 लाख किसान लाभान्वित होंगे।

  3. किसानों को दी जाने वाली राशि:- इस योजना के अंतर्गत चुने गये किसानों को 2 लाख तक की राशी दी जाएगी। यह 2 लाख रूपए उनके द्वारा लिए गये ऋण में से माफ कर दिये जायेंगे‌। इस योजना में अभी तक सरकार ने 59621 करोड़ रूपए के आस-पास राशी अलोट की है।

  4. इस योजना के अंतर्गत आने वाली बैंक:- इस योजना के अंतर्गत सभी शहरी सहकारी समिति, पब्लिक बैंक, प्राइवेट बैंक और कुछ हिस्सों में आने वाली ग्रामीण बैंकों को शामिल किया गया है।

  5. क्रेडिट किये जाने वाले खातों की संख्या:- सरकारी आकड़ो के अनुसार लगभग 20.22 लाख एकाउंट को इस योजना के अंतर्गत शामिल किया गया है। इन खातों के ब्याज दर और नेट राशी के हिसाब से इनमे राशी ट्रान्सफर की जाएगी।

इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्रता:-

पंजाब का किसान होना आवश्यक है:- अगर कोई किसान इस योजना का लाभ लेना चाहता है तो उसके लिए यह आवश्यक है कि वह पंजाब का नागरिक हो या पंजाब में रहता हो।
इस योजना का लाभ लेने के लिए यह आवश्यक है की जो किसान गरीब किसानों की श्रेणी में आते हो उनके पास 2.5 एकड़ से कम जमीन उपलब्ध हो तब ही उन्हें 2 लाख रुपय की राशि मिलेगी। इसके अलावा अन्य किसानों के पास 2.5 से 5 एकड़ के मध्य जमीन होना चाहिये तब ही वे इस योजना का लाभ ले पायेंगे।

इस योजना के मुख्य चरण :

पहला चरण:- जो भी किसान इस योजना का लाभ लेना चाहता है, उसके लिए यह आवश्यक है कि उसका आधार कार्ड संबंधित बैंक से लिंक हो तब ही वह इस योजना का लाभ ले सकता है।

दूसरा चरण:- मानसा, बठिंडा, फरीदकोट, मुक्तसर और मोगा जिलों में रहने वाले लोग इस योजना का लाभ लेने के लिए अप्लाई कर सकते है।

इस योजना से संबंधित आवश्यक दस्तावेज:-

इस योजना का लाभ लेने के लिए सबसे ज्यादा आवश्यक चीज किसान का रेजिडेंशियल प्रूफ होता है, जिससे उसके पंजाब का नागरिक होने का प्रूफ मिलता है। इसी के साथ किसान के खेत के कागज, और उसके द्वारा जिस बैंक से ऋण लिया गया है उसके कागज भी आवश्यक होते है। इन सब के अलावा किसान के बैंक एकाउंट की जानकारी और आधार कार्ड भी आवश्यक डॉक्यूमेंट है।

योजना से संबंधित बैंक लिस्ट:-

अभी फिलहाल सरकार ने इस योजना में शामिल बैंकों की सूचि जारी की गयी है। इसके बाद इस योजना का लाभ सहकारी बैंक के ग्राहकों को दिया जायेगा। उसके बाद आने वाले समय में पब्लिक बैंकों को इसमे शामिल किया जायेगा। और अंत में प्राइवेट बैंकों को इसमें शामिल किया जायेगा।

इस योजना का लाभ लेने के लिए एप्लीकेशन फॉर्म और रजिस्ट्रेशन प्रोसेस:-

यह योजना अभी हाल ही में लांच हुई है, इसलिए इसके एप्लीकेशन फॉर्म अब तक नहीं आये है। परंतु जल्द ही इसकी ऑफिशियल साईट पर इसके लिए एप्लीकेशन फॉर्म उपलब्ध होंगे। इसके अलावा आवेदक यह फॉर्म डिस्ट्रिक्ट कमिश्नर के ऑफिस से भी प्राप्त कर सकता है।

इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस भी अब तक नहीं बताई गयी है। इसकी प्रोसेस को भी जल्द ही संबंधित डिपार्टमेन्ट द्वारा अवगत कराया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!