पानी बचाओ पैसे कमाओ योजना 2020: जानिए क्या है यह योजना और कैसे करें आवेदन

हम सभी जानते हैं कि पानी हमारे जीवन के लिए उतना ही जरुरी है जितना कृषि और बिजली के लिए होता है। ऐसे में हमें इसका दुरूपयोग नहीं करना चाहिए बल्कि इसकी बचत करनी चाहिए। इस सोच को आगे बढ़ाने के लिए पंजाब राज्य सरकार द्वारा एक योजना की शुरुआत की गई है, जिससे किसानों को पानी बचाने और बिजली बचाने की हर यूनिट के लिए पैसे कमाने का मौका मिलेगा। इससे राज्य में बिजली की बढत होगी, और किसान पैसे भी कमा पाएंगे।

पानी बचाओ पैसे कमाओ योजना की लांच की जानकारी :-

1. योजना का नाम:- पानी बचाओ पैसे कमाओ योजना।

2. योजना का लांच:- 14 जून, 2018।

3. योजना की शुरुआत:- पंजाब राज्य सरकार द्वारा।

4. योजना का कार्यान्वयन:- पायलट आधार पर।

5. योजना का लक्ष्य:- पानी बचाओ और पैसे कमाओ।

पानी बचाओ पैसे कमाओ योजना की विशेषताएँ:-

इस योजना के द्वारा पानी बचाने के साथ–साथ किसान पैसे भी कमा पाएंगे. यह योजना ग्राउंड वाटर के स्तर को रिचार्ज करने के लिए डिजाईन की गई है. इस योजना की कुछ विशेषताएँ इस प्रकार हैं –

किसी प्रकार की अनिवार्यता नहीं है :-

इस योजना का हिस्सा बनने के लिए सरकार ने किसी भी कृषि श्रमिकों को बाध्य नहीं किया है। इस योजना में केवल इच्छुक कृषि श्रमिक ही जुड़कर इसका रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

राज्य द्वारा मीटर इनस्टॉल किये जायेंगे:- वे सभी कृषि उपभोक्ता जो इस योजना में शामिल होना चाहते हैं। उन सभी उपभोक्ताओं की मोटरों पर राज्य सरकार द्वारा मीटर स्थापित किये जायेंगे। इस मीटर में किसानों द्वारा बचत कर रहे पानी का रिकॉर्ड होगा।

निःशुल्क राशि:-इस योजना को अपनाने वाले उपभोक्ताओं को इसके लिए किसी भी प्रकार का बिल नहीं भरना होगा। यह पानी बचाओ योजना किसानों के लिए मुफ़्त रखी गई है।

अतिरिक्त बिजली सप्लाई:- यहाँ सबसे जरुरी बात यह है कि इन 6 फीडरों के सभी उपभोक्ताओं को केवल दिन के दौरान बिजली मिल सकेगी. किन्तु यदि 80% से अधिक लोग इस योजना को अपनाते हैं तो उन उपभोक्ताओं को 2 घंटे के लिए अतिरिक्त बिजली सप्लाई हो जाएगी।

बैंक अकाउंट में पैसे जमा किये जायेंगे:- इस योजना के दौरान कृषि श्रमिकों को मिलने वाली राशि राज्य सरकार द्वारा सीधे उनके बैंक अकाउंट में जमा कर दी जाएगी। इसके लिए उनका बैंक अकाउंट होना अनिवार्य है।

बिजली यूनिट प्रति सब्सिडी:- वे सभी उपभोक्ता जो बिजली की कम यूनिट का उपभोग कर रहें हैं उन्हें 4 रूपये प्रति यूनिट की दर से पैसे दिये जायेंगे।

बिजली की विशेष लिमिट:- राज्य सरकार द्वारा बिजली की ऑप्टीमम लिमिट तय की जाएगी, ताकि किसान हर दिन इसका उपयोग कर सकें।

लिमिट क्रॉस करने पर कोई जुर्माना नहीं लिया जायेगा:- यदि कोई किसान दी गई बिजली की सीमा से अधिक का उपभोग करता है तो भी उनसे कुछ जुर्माना नहीं लिया जायेगा।

पानी बचाओ पैसे कमाओ योजना के चरण:- इस योजना के पहले चरण में, पॉवर यूटिलिटी कंपनी ने फतेहगढ़ साहिब, जालंधर और होशियारपुर जिले में 6 पायलट फीडरों का चयन किया है।

पंजाब सरकार की इस योजना के माध्यम से एक पहल की गई है और उनके द्वारा राज्य के सभी किसानों से इससे जुड़कर इसका समर्थन करने की अपील की गई है। इसका उद्देश्य आने वाले भविष्य में राज्य को पानी के संकट से बचना है। लोग, किसानों की आर्थिक प्रगति को बढ़ावा देने के लिए भी इसका समर्थन कर सकते हैं। साथ ही यदि किसान इस योजना का हिस्सा बनते हैं तो उन्हें राज्य सरकार की आने वाली कृषि योजनाओं में शीर्ष प्राथमिकतायें मिलेंगी।

पानी बचाओ पैसे कमाओ योजना के तहत पैसे कैसे कमाए:-

इस योजना के माध्यम से किसान पैसे कैसे कमायें उसकी यहाँ जानकारी दी गई है:-

उदाहरण के लिए यदि एक किसान के लिए सप्लाई लिमिट प्रति माह 1000 यूनिट्स तय की जाती है। और मान लीजिये, एक किसान एक महीने में केवल 800 रूपये प्रति यूनिट का उपयोग करता है। तो सब्सिडी के अनुसार इसकी गणना की जाएगी। इस केस में सप्लाई लिमिट और उपयोग की गई यूनिट्स की संख्या में अंतर 1000 – 800 = 200 यूनिट्स है, और 4 रूपये प्रति यूनिट की दर से अर्जित आय के आधार पर 200*4 = 800 रूपये किसान को मिलेंगे। यदि वह 30 दिनों के लिए ऐसा करने में सफल होता है, तो महीने के अंत में, राज्य सरकार द्वारा 24,000 रूपये किसानों के बैंक अकाउंट में स्थानांतरित कर दिए जायेंगे। इस तरह किसान पैसे कमा सकते हैं।

नोट:– जो किसान इस योजना का हिस्सा नहीं हैं उन्हें इसके लिए शुल्क देना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!