पेट के संक्रमण के कारण और इसे होने से कैसे रोका जा सकता है इन्फेक्शन 
आज के इस आर्टिकल हम यह सब जाँनेगे –

पेट संक्रमण को बैक्टीरियल -आंत्रशोथ के रूप में भी जाना जाता है यह तब होता है जब आपका पेट जीवाणु संक्रमण से प्रभावित होता है

इससे आपके पेट और आंतों में सूजन हो जाती है आपको उल्टी-दस्त और-सरदर्द जैसी – गंभीर पेट ऐंठन जैसे लक्षण का अनुभव होने लगता है

अधिकांश गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल संक्रमण-जीवाणु संक्रमण के वायरस भी सामान्य होते हैं इस संक्रमण को-फ़ूड पोइसिनिंग-भी कहा जाता है

यहाँ तक कि कम स्वच्छता भी पेट में संक्रमण पैदा कर सकती है यदि आप बैक्टीरिया से दूषित जानवरों या पीने के पानी के संपर्क में आते हैं तो भी संक्रमण हो सकता है

चलिए हम पेट के संक्रमण के लक्षणों में से कुछ पर नजर डालते हैं ?

बैक्टीरियल आंत्रशोथ के लक्षण बैक्टीरिया पर निर्भर करते है जो संक्रमण का कारण होते हैं लक्षणों में शामिल हैं –

  • बुखार
  • अपभूखने मल में रक्त
  • दस्त
  • पेट में ऐंठन और दर्द
  • उल्टी और मतली

अपने डॉक्टर से संपर्क जरुर  करें यदि 5 दिन (बच्चों के मामले में दो दिन) के बाद भी लक्षण में सुधार नहीं होता है यदि तीन महीने का बच्चा 12 घंटे के बाद भी उल्टी करता है तो डॉक्टर से परामर्श करें यदि इस से छोटा बच्चा दस्त या उल्टी करता है तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें ?

पेट में संक्रमण के कारण

कई बैक्टीरिया पेट में संक्रमण पैदा कर सकते हैं इसमें शामिल हैं –

  • येर्सिनिया-सूअर के मांस में पाया जाता है
  • स्ताफ्य्लोकोक्क्स-जो मांस और अंडे जैसे डेयरी उत्पादों में पाया जाता है
  • शिगेला-पानी (विशेष रूप से स्विमिंग पूल) में पाया जाता है
  • साल्मोनेला-जो मांस-अंडे और डेयरी उत्पादों में पाया जाता है
  • कैम्पिलोबैक्टर-जो पोल्ट्री और मांस में पाया जाता है
  • कोलाई-जो सलाद और जमीनी मांस में पाया जाता है
  • बैक्टीरियल आंत्रशोथ का इलाज कैसे करें ?

आप को हाइड्रेटेड रखना और जटिलताओं से बचाना मुख्य उद्देश्य है यह वास्तव में महत्वपूर्ण है कि आप इस तरह पोटेशियम और सोडियम के रूप में बहुत ज्यादा नमक न खो दआपके शरीर को सुचारू रूप से कार्य करने के लिए निश्चित मात्रा में इनकी आवश्यकता होती है यदि आप को पेट में संक्रमण की गंभीर समस्या है तो आप को अस्पताल में भर्ती कराया और नसों द्वारा लवण और तरल पदार्थ दिए जा सकते हैं एंटीबायोटिक्स गंभीर मामलों में निर्धारित किए जाते हैं –

  • मामूली मामलों के लिए कुछ घरेलू उपचार

यदि आप को पेट में हल्का संक्रमण है तो आप संभवतः – अपने घर पर बीमारी का इलाज कर सकते हैं निम्नलिखित का प्रयास करें ?

  • दिन भर तरल पदार्थ लें-विशेष रूप से दस्त और बाउट के बाद
  • नियमित रूप से लेकिन कम खाओ-नमकीन खाने सहित
  • केले और फलों के रस जैसे पोटेशियम युक्त खाद्य और पेय
  • चिकित्सक के परामर्श के बिना कोई भी दवा न लें

यदि आप में तरल की कमी है तो अस्पताल जाएं जब आप एक बार बर्तन का उपयोग कर लेते हैं, तो उन्हें डेटॉल मल्टी.यूस हाइजिन तरल का उपयोग कर साफ करें
घर में उपलब्ध कुछ तत्व आपको इलेक्ट्रोलाइट्स को संतुलित रखने और दस्त का उपचार करने में सहायता कर सकते हैं

अदरक संक्रमण का मुकाबला करने में और पेट और पेट में दर्द की गंभीरता को कम करने में मदद कर सकती है
एप्पल साइडर सिरका और तुलसी आपके पेट के लिए ठीक है और भविष्य के संक्रमण के खिलाफ आपको पेट को मजबूत बनाती है
पेट के संक्रमण को फैलने से कैसे रोका जाए?

यदि आप पेट के संक्रमण से पीड़ित हैं, तो दूसरों तक बैक्टीरिया फैलने से बचने के लिए आवश्यक सावधानियों को इस्तेमाल करें

“सुनिश्चित करें कि आप शौचालय जाने के बाद और भोजन को छूने से पहले अपने हाथ धोएं। आप डेटॉल लिक्विड हैंडवाश से अपने हाथ धोकर सुरक्षा की अतिरिक्त परत जोड़ सकते हैं जब तक आपके लक्षणों में सुधार नहीं होता है दूसरों के लिए भोजन तैयार करने की कोशिश न करें। जब आप बीमार हों तो अन्य लोगों के साथ निकट संपर्क में न आएं। जब एक बार आपके लक्षण कम हो जाएं-तो काम फिर से शुरू करने के लिए कम से कम 48 घंटे के लिए प्रतीक्षा करें”

आप कच्ची शैलफिश-कच्चे मांस-और क्रीम दूध से बच कर पेट संक्रमण से बच सकते हैं-

अगर आप को इस आर्टिकल से लाभ हुआ है तो इस तरा के आर्टिकल पाने के लिए आप हमे follow कर सक्ते है धन्यवाद.

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!