भारतीय इतिहास की सबसे खूबसूरत रहस्यमयी रानियाँ

भारत का इतिहास सदियों पुराना है। यह इतिहास राजाओं, महाराजाओं और रानियाँ उनसे जुड़ी शानों शौकत और जंग से जुड़ा हुआ है। इस दौरान कई ऐसी रानियाँ, महारानियाँ भी थी, जो अपनी बेमिसाल खूबसूरती और बहादुरी के लिए जानी गई। आज हम आपको भारत की उन खूबसूरत रानियाँ, रानियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनकी खूबसूरती का कोई मुकाबला नहीं है। भारत की इन रानियाँ की खूबसूरती भारत ही नहीं, बल्कि दूनिया भर में मशहुर थी।

#1. जयपुर की महारानी गायत्री देवी

जयपुर के भूतपूर्व राजघराने की महारानी गायत्री देवी का जन्म लंदन में हुआ था। वह अपनी सुंदरता के लिए पूरे विश्व में प्रसिद्ध थीं। उनका विवाह जयपूर के महाराजा सवाई मानसिंह द्वितीय से हुआ था। वह महाराजा मानसिंह की तीसरी पत्नी थीं। मशहुर फैशन पत्रिका वोग ने उन्हें दुनिया की सबसे सूंदर 10 महिलाओं में शामिल किया था। जुलाई 2009 में 90 वर्ष की आयु में उनका निधन हुआ था।

#2. कपूरथला की सीता देवी

सीता देवी, काशीपुर के हिंदू राजा की बेटी थीं। उन्हें प्रिंसेस करम के नाम से भी जाना जाता था। उनका विवाह कपूरथला के सिख राजकुमार करमजीत सिंह के साथ हुआ था। वह उस वक्त की सबसे सुंदर रानियों में से एक थीं। ‘वोग मैगजीन’ ने भी उन्हें दुनिया की सबसे वेल ड्रेस्ड महिलाओं में चुना था। वह कई यूरोपियन भाषाएं भी बोल सकती थी।

#3. राजकुमारी संयोगिता

संयुक्ता, कन्नौज के राजा जयचंद की बेटी थी। उनकी शादी राजपूत राजा पृथ्वीराज चौहान से हुई थी। उनकी सुंदरता के चर्चे इस कदर थे कि पृथ्वीराज ने उनके बारे में सुना, तो बिना देखे ही उन्हें अपना दिल दे बैठे थे। पृथ्वीराज चौहान से राजा जयचंद की शत्रुता थी, फिर भी अपने पिता द्वारा आयोजित एक स्वयंवर में अपने पिता की इच्छा के विरूद्ध संयुक्ता ने पृथ्वीराज चौहान के गले में वरमाला पहनाई।

#4. रानी पद्मिनी

रानी पद्मिनी, चित्तौड़ के राजा रतन सिंह की पत्नी थी। रानी पद्मिनी अंत्यन्त सूंदर थी। उनकी सूंदरता के चर्चे सूनकर दिल्ली के शासक अल्लाउद्दीन खिलजी ने चित्तौड़ पर आक्रमण कर दिया। इस युद्ध में लगभग 30 हजार सैनिक मारे गए और युद्ध में जीतने के बाद भी अल्लाउद्दीन खिलजी रानी को हासिल नहीं कर पाया, क्योंकि अलाउद्दीन उस तक पहुँच सके, इससे पहले ही रानी ने अपनी इज्जत की खातिर हजारों राजपूत स्त्रियों के साथ अग्नि में कूद कर जौहर कर लिया था।

#5. रजिया सुल्तान

रजिया सुल्तान दिल्ली सल्तनत पर राज़ करने वाली पहली महिला सुल्तान थी। वह इल्तुतमिश की पुत्री थी। वह बेहद खूबसूरत थी। रजिया सुल्तान पर्दा प्रथा के विपरित पुरूषों का जैसा वेष रखकर रहती थी। इल्तुतमिश ने अपने उत्तराधिकारी के रूप में रजिया सुल्तान को चुना था। रजिया सुल्तान ने 1236 से 1240 तक दिल्ली सल्तनत पर शासन किया था। वह उसके शासन के थोड़े ही दिनों में दिल्ली की शक्तिशाली शासक बन गई थी।

#6. रानी दुर्गावती

रानी दुर्गावती का जन्म प्रसिद्ध चांडल सम्राट केरत रॉय राजपरिवार में हुआ। रानी दुर्गावती बेहद सूंदर थी। उन्होंने अपनी शादी के 4 साल बाद अपने पति दलपत शाह की असामयिक मृत्यु के बाद अपने बेटे वीरनारायण को गद्दी पर बैठाकर खुद उनकी संरक्षक के रूप में शासन किया। रानी दुर्गावती को इलाहबाद के मुगल शासक आसफ खॉ से लोहा लेने के लिए जाना जाता है।

#7. रानी विजया देवी

रानी विजया देवी, प्रिंस कांति राव नरसिम्हा राजा वाडियार की बेटी थीं। वह देशभर में अपनी खूबसूरती के लिए जानी जाती थीं। उन्होंने लंदन और न्यूयॉर्क के कॉलेज से संगीत की शिक्षा ली थी। इसके साथ ही उन्हें वीणा बजाने में महारत हासिल थी। उनका विवाह कोटड़ा-संगानी के ठाकुर से हुआ था।

#8. पुर्तगाल की इसाबेल

पुर्तगाल की इसाबेल को दुनिया की सबसे खूबसूरत महिलाओ में से एक माना जाता है। इसाबेल पुर्तगाल के महाराज King Manuel I की दूसरी पत्नी Maria of Aragon की सबसे बड़ी पुत्री थी। इसाबेल की आँखों में शाही काली सुंदरता थी। ये ईर्ष्या और जलन से परिपूर्ण थी। अपने लक्ष्य को पाना जानती थी।

रोमन के सम्राट Charles V से उनका विवाह हो गया और बाद में वे रोमन और इटली की महारानी के साथ Spain, Sicily, and Burgundy की भी रानी बन गयी। इसाबेल को उसकी सुंदरता व आकर्षण के साथ बुद्धिमता के लिए भी जाना जाता है। इन्होने कई वर्षो तक अपने पति की अनुपस्थिति राज प्रतिनिधि के रूप में कार्य किया है। इनकी छठी गर्भावस्था के समय मृत्यु हो गयी थी। इसके बाद इनके पति ने दूसरा विवाह नहीं किया था और वे एक कैथोलिक संत बन गए थे।

#9. राजकुमारी रमा राज्य लक्ष्मी राणा

भारत की आज़ादी के साथ ही यहां के शाही ख़ानदानों ने अपनी ताक़त गंवा दी, लेकिन आज भी इनके बारे में लोगों की उत्सुकता बरक़रार है.

इतिहास महाराजाओं के इर्द-गिर्द घूमता रहा है और इनमें से अधिकांश आज भी बहुत सम्पन्न और प्रभावशाली हैं.

हालांकि जयपुर की महारानी गायत्री देवी जैसी कई प्रमुख महारानियां रही हैं, जिन्होंने भारत में लड़कियों की शिक्षा को काफी बढ़ावा दिया और वो ‘वोग’ फैशन पत्रिका की सबसे सुंदर महिलाओं में शुमार रहीं.

बावजूद इसके भारत की शाही महिलाएं आम तौर पर गुमनाम ही रहीं और उनके बारे में बहुत कम जानकारी उपलब्ध है.

अब एक फ़ोटोग्राफ़ी स्टूडियो ‘तस्वीर’ अपनी दसवीं सालगिरह के अवसर पर उन्हें सामने लाने की कोशिश कर रहा है.

#10. विजयलक्ष्मी देवी साहिबा

गुजरात में कोट्दा सांगनी की थाकोरानी विजयलक्ष्मी देवी साहिबा की 1941-1942 की तस्वीर.

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!