1. पृथ्वी से सूर्य की दुरी कितनी है – पृथ्वी से सूर्य की दुरी लगभग 14,96,00,000 किलोमीटर है।

2. सूर्य का प्रकाश बस 8 मिनट 18 सेकंड में पृथ्वी पर पहुँच जाता है।

3. सूर्य के प्रकाश की गति 3 लाख किलोमीटर प्रति सेकंड होती है।

4. पृथ्वी पर हर साल अधिकतम 5 बार ही सूर्य ग्रहण लगता है।

5. सूर्य की बाहरी भाग का तापमान 5500 डिग्री सेल्सियस होता है और अंदरूनी भाग का तापमान 1 करोड़ 31 लाख डिग्री सेल्सियस होता है।
.
6. अगर कोई चीज सूर्य के 20 लाख 22 हजार किलोमीटर के दायरे में आती है तो सूर्य उसे अपनी ओर खींच लेता है।
.
7. सूर्य पृथ्वी से लगभग 100 गुना अधिक बड़ा एक ग्रह है और पृथ्वी से लगभग 333, 400 गुना अधिक भारी है।
.
8. सूर्य का कुल व्यास कितना है – सूर्य का व्यास लगभग 14 लाख किलोमीटर है।
.
9. सूर्य में 74% हाइड्रोजन और 24% हीलियम से बना है और 2% सूर्य में ओकसीजन, कार्बोन, लोहा, नियोंन आदि भी मौजूद है।
10. पृथ्वी पर आपका वजन 60 किलो है तो सूर्य पर आपका वजन 1680 किलो हो जायेगा क्योंकि सूर्य का गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी से 28 गुना ज्यादा है।

11. चाहे दिन हो जा रात आप जब भी यह तथ्य पढ़ रहे हो जा कभी भी कुछ कर रहे हो तो सूर्य द्वारा छोड़े गए 10 लाख अरब (1013) न्युट्रान आप के शरीर से गुज़र रहे होते हैं।

12. सुर्य मंण्डल का 99.24% वजन सुर्य का है।

13. अगर सूरज का आकार एक फुटबाल जितना और बृहस्पति का गोल्फ बाल जितना कर दिया जाए तो धरती का आकार एक मटर से भी कम होगा।

14. प्रकाश सूरज से धरती पर आने के लिए 8 मिनट 17 सेकेंड लेता है।

15. संस्कृत भाषा में सुर्य के कुल 108 नाम हैं।

16. अगर मान ले कि आप सूर्य की सतह पर रहते हैं तो आप को धरती पर आने कि लिए जो रॉकेट तैयार करना होगा उसकी शुरूआती गति 618 किलोमीटर प्रति सैंकेड होनी चाहिए।

17. सूर्य एक गैस का गोला है यह 72% Hydrogen, 26% Helium और 2% Carbon & Oxygen और बाकी का हिस्सा कई भारी तत्वों जैसे ऑक्सीजन, कार्बन, लोहे और नीयोन से बना है।

18. सुर्य की बाहरी सतह का तापमान 5500 डिगरी सेलसीयस है जबकि अंदरूनी भाग का तापमान 1 करोड 31 लाख डिगरी सेलसीयस है।

19. सूर्य भारी मात्रा में सौर वायु उत्पन्न करता है जिसमें इलेक्ट्रॉन और प्रोटॉन जैसे कण होते है। यह वायु इतनी तेज (लगभग 450 किलोमीटर प्रति सेकेंड) और शक्तिशाली होती है कि इसमें मौजूद इनेक्ट्रॉन और प्रोटॉन सूरज के शक्तिशाली गुरूत्व से भी बाहर निकल जाते हैं।

20. धरती जैसे शक्तिशाली चुंबकीय क्षेत्र वाले ग्रह सौर वायु से उत्पन्न इलेक्ट्रॉन और प्रोटॉन को पृथ्वी के पास पहुँचने से पहले ही मोड़ देते हैं। (ध्यान रहें चुंबकीय क्षेत्र मोड़ता है वायुमंडल नही।)

20. धरती की तरह सूरज ठोस नही है। यह सारा का सारा गैसों का बना हुआ है।

21. सूर्य का गुरूत्व इतना शक्तिशाली है कि 6 अरब किलोमीटर दूर स्थित प्लूटो ग्रह भी इसके गुरूत्व के कारण अपनी कक्षा में घूम रहा है।

22. अगर कोई वस्तु सूरज के 20 लाख 22 हज़ार किलोमीटर के दायरे में आती है तो सूरज उसे अपनी ओर खींच लेगा।

23. प्रकाश सुर्य से प्लुटो तक पहुँचने में 5 घंटे 30 मिनट लेता है।

24. जैसे हमारी धरती अपनी धुरी के समक्ष 24 घंटे में एक चक्कर पूरा करती है ऐसे ही सूर्य अपनी धुरी के समक्ष 25 दिन में एक चक्कर पूरा करता है।

25. सूर्य अपने ध्रुवों की अपेक्षा, अपनी भू-मध्य रेखा पर ज्यादा गति से घूर्णन (rotation) करता है।

26. जबसे सूरज का जन्म हुआ है इसने सिर्फ 20 बार ही आकाशगंगा का चक्कर काटा है। इसे एक चक्कर पूरा करने में 25 करोड़ साल लग जाते है।

27. सूर्य के एक वर्ग सेंटीमीटर से जितनी उर्जा पैदा होती है इतनी उर्जा 100 वाट के 64 बल्बो को जगाने के लिए काफी होगी।

28. सूर्य की जितनी उर्जा धरती पर पहुँचती है इतनी उर्जा संपूर्ण मानवों द्वारा खपत की उर्जा से 6000 गुना ज्यादा होती है।

29. जितनी उर्जा 30 दिन में धरती को सूर्य द्वारा मिलती है इतनी उर्जा मानवों द्वारा पिछले 40,000 साल से खपत उर्जा से कहीं ज्यादा है।

30. अगर मान लें कि सूरज की चमक एक दिन धरती पर न पुँहचे तो धरती कुछ ही घंटो में बर्फ की तरह पूरी तरह से जम जाएगी सारी धरती उत्तरी ओर दक्षिणी ध्रुव जैसी बन जाएगी।

31. सूर्य, पृथ्वी से 14 करोड़ 96 लाख किलोमीटर की दूरी पर है। अगर एक चीता आज पृथ्वी से दौड़ना शुरू करे तो उसे सूर्य तक पहुंचने में 151 साल लग जाएँगे। चीते की रफ्तार लगभग 120 किलोमीटर प्रति-घंटा होती है।

32. पृथ्वी और सूर्य के बीच की दूरी बदलती रहती है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि पृथ्वी सूरज की परिक्रमा एक अण्डाकार पथ पर करती है। दोनो के बीच की दूरी 14.70 करोड़ से 15.20 करोड़ किलोमीटर के बीच बनी रहती है।

33. एक बंदूक की गोली की औसत गति 1,126 फुट प्रति सैकेंड होती है। अगर यह गोली सूरज की तरफ मारी जाए तो इसे वहाँ तक पहुंचने में 14 साल लग जाएँगे।

34. अगर सूर्य की एक घंटे की सारी energy को सोलर पैनलों के सहारे बिजली में बदल लिया जाए तो यह दुनिया की एक साल की बिजली की खपत के बराबर होगी।

35. हर सेकेंड सूरज से एक ख़रब परमाणु बमों जितनी शक्ति निकल रही है।

36. सूर्य के अंदर nuclear fusion क्रिया होती है ये बिल्कुल हाइड्रोजन बंब फटने पर होने वाली क्रिया जैसी है।

37. सूरज का असली रंग सफेद है इसके वातावरण की वजह से ये पीला दिखाई पड़ता है।

38. नार्वे एकलोता ऐसा क्षेत्र है जहां सूर्य लगातार साढ़े 3 महीने तक चमकता रहता है।

39. 1 अरब 10 लाख साल बाद सुर्य अब से 10% ज्यादा चमकने लगेगा। धरती का वायुमंडल और इसकी नमी अत्यधिक तापमान के कारण अंतरिक्ष में उड़ जाएगी।

40. अब से 5 अरब साल बाद सुर्य अब से 40% ज्यादा चमकने लगेगा। सारे सागर , महासागर और नदियों का पानी जलवासप बन कर अंतरिक्ष में उड़ जाएगें।

41. अब से 5 अरब 40 करोड़ साल बाद सूर्य में सारी हाइड्रोजन खत्म हो जाएगी और यह खत्म होना शुरू हो जाएगा।

42. अब से 7 अरब 70 करोड़ साल बाद सूरज लाल दानव का रूप धारण कर लेगा। यह लगभग 200 गुना बड़ा हो जाएगा और बुद्ध ग्रह तक पहुँच जाएगा।

43. 7 अरब 90 करोड़ साल बाद सूर्य एक सफेद बोने में बदल जाएगा तब इसका आकार सिर्फ शुक्र ग्रह के जितना होगा।

44. सूर्य हमारे सोलर सिस्टम की सबसे बड़ी वस्तु है। यह इतना बड़ा है कि इसमें 13 लाख पृथ्वी समा सकती है।

45. आकाशगंगा में 5% ऐसे तारे भी है जो सूरज से ज्यादा बड़े और चमकदार है।

46. सूरज पर मौजूद 7 करोड़ टन Hydrogen, हर सेकंड 6 करोड़ 95 लाख टन Helium और 5 लाख टन Gamma Rays में बदल रही है। सूरज की तेज़ रोशनी का कारण यही है।

47. अगर एक पेंसिल की नोक जितना सूरज पृथ्वी पर आ जाए तो भी 145 किलोमीटर दूर से ही आपकी जलकर मौत हो जाएगी।

48. नार्वे एकलोता ऐसा क्षेत्र है जहां सूर्य लगातार साढ़े 3 महीने तक चमकता रहता है।

49. 1 अरब 10 लाख साल बाद सुर्य अब से 10% ज्यादा चमकने लगेगा। धरती का वायुमंडल और इसकी नमी अत्यधिक तापमान के कारण अंतरिक्ष में उड़ जाएगी।

50. अब से 5 अरब साल बाद सुर्य अब से 40% ज्यादा चमकने लगेगा। सारे सागर , महासागर और नदियों का पानी जलवासप बन कर अंतरिक्ष में उड़ जाएगें।

51. अब से 5 अरब 40 करोड़ साल बाद सूर्य में सारी हाइड्रोजन खत्म हो जाएगी और यह खत्म होना शुरू हो जाएगा।

52. अब से 7 अरब 70 करोड़ साल बाद सूरज लाल दानव का रूप धारण कर लेगा। यह लगभग 200 गुना बड़ा हो जाएगा और बुद्ध ग्रह तक पहुँच जाएगा।

53. 7 अरब 90 करोड़ साल बाद सूर्य एक सफेद बोने में बदल जाएगा तब इसका आकार सिर्फ शुक्र ग्रह के जितना होगा।

54. सूर्य हमारे सोलर सिस्टम की सबसे बड़ी वस्तु है। यह इतना बड़ा है कि इसमें 13 लाख पृथ्वी समा सकती है।

55. आकाशगंगा में 5% ऐसे तारे भी है जो सूरज से ज्यादा बड़े और चमकदार है।

56. सूरज पर मौजूद 7 करोड़ टन Hydrogen, हर सेकंड 6 करोड़ 95 लाख टन Helium और 5 लाख टन Gamma Rays में बदल रही है। सूरज की तेज़ रोशनी का कारण यही है।

57. अगर एक पेंसिल की नोक जितना सूरज पृथ्वी पर आ जाए तो भी 145 किलोमीटर दूर से ही आपकी जलकर मौत हो जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!