1. जहा 2002 में हुए गुजरात में दंगो के कारण अमेरिका ने 2004 से 2014 तक मोदी को अमेरिका जाने का वीजा नही दिया था जबकि 2014 में भारत का प्रधानमन्त्री बनने के बाद अमेरिका का खुद से मोदी के बुलावा आया

  2. नरेंद्र मोदी कार्य के प्रति सबसे ज्यादा समर्पित है वे अपने दिन के 18 घंटे कार्यो में बिताते है

  3. नरेंद्र मोदी लगभग 4 से 5 घंटे ही नीद लेते है

  4. नरेंद्र मोदी प्रधानमन्त्री बनने के बाद हर साल अपनी दिवाली सेना के सैनिको के साथ मनाते है

  5. नरेंद्र मोदी टेक्नोलाजी के बहुत बड़े पक्षधर है वे हमेसा नई नई तकनीको को इस्तेमाल करना पसंद करते है.

  6. नरेंद्र मोदी के इसी तकनीक का उदाहरण 2014 में देखने को मिला था पहली बार 3D स्क्रीन के जरिये नरेंद्र मोदी ने एक जगह से दुसरे जगह भाषण दिया था

  7. नरेंद्र मोदी सोशल मिडिया के महत्व को बहुत अच्छे तरीके से जानते है वर्तमान में किसी भी सोशल साईट जैसे फेसबुक, ट्विटर पर सबसे ज्यादा नरेंद्र मोदी के फालोवर है

  8. नरेंद्र मोदी को जितना भी उपहार मिलते है वे बोली लगवाकर उसकी बिक्री करके सामजिक संस्थाओ को पैसे दे देते है और वर्तमान में मिले इन्ही पैसो को नमामि गंगे प्रोजेक्ट के लिए दान कर देते है.

  9. नरेंद्र मोदी समय के पक्के पाबन्द है और वे प्रतिदिन सुबह 5.30 बजे तक उठ जाते है नित योगा व्यायाम भी जरुर करते है जो की उनकी सेहत का राज भी है

  10. दुश्मन के मिले गाली को फूल बना लेना कोई भी नरेंद्र मोदी से सीख सकता है एक तरह जहा उनके चायवाला कहकर उनका मजाक उड़ाया था तो उन्होंने पूरे देश में चाय पर चर्चा शुरू कर दिया और यही नही वर्तमान 2019 के आम चुनाव में चौकीदार के रूप विपक्ष के तीखे हमलो पर खुद को देश का चौकीदार मानते हुए पूरे देश को “मै हु चौकीदार” कैम्पेन से जोड़ दिया

  11. नरेंद्र मोदी की उपलब्धि का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है पूरे विश्व में भारत को एक नई पहचान दिलाने में भूमिका निभाई है

  12. नरेंद्र मोदी को अन्तराष्ट्रीय स्तर पर प्रधानमन्त्री बनने के बाद अनेक पुरस्कार मिल चुके है जिसका वो सारा श्रेय 130 करोड़ हिन्दुस्तानियों को देते है.

  13. नरेंद्र मोदी ने पहली बार पाकिस्तान पर उरी हमले के बाद सर्जिकल स्ट्राइक और पुलवामा हमले के बाद एयर स्ट्राइक को अनुमति दिया जिससे भारत की छवि पूरे विश्व में अब बदल चुकी है नरेंद्र मोदी के ऐसे फैसलों के कारण ही उनके चाहने वाले 56 इंच के सीने वाले कहकर पुकारते है

  14. नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किये अनेक विकास कार्यो को अब आम जनता को सीधे मिल रहा है जो की बेहतर टेक्नोलॉजी के उपयोग से ही सम्भव हो पाया है

  15. नरेंद्र मोदी भारत के पहले ऐसे प्रधानमन्त्री है जिनका जन्म भारत की स्वतंत्रता के बाद हुआ है

  16. नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितम्बर 1950 को गुजरात राज्य के मेहसाणा जिले के वडनगर ग्राम में हुआ है जो की आजाद भारत में जन्मे इस तरह पहले भारत के प्रधानमन्त्री है

  17. इनकी माता का नाम हीराबेन मोदी और पिता का नाम दामोदर दास मूलचंद है

  18. जैसा की भारत के गुजरात महाराष्ट्र राज्यों में अपने नाम के पिता का नाम लगाना शुभ माना जाता है इस तरह नरेंद्र मोदी का पूरा नाम नरेंद्र दामोदर दास मोदी है.

  19. नरेंद्र मोदी अपने 6 भाई बहनों में तीसरे नम्बर के स्थान पर है

  20. नरेंद्र मोदी के ने स्कूली शिक्षा वडनगर से ही प्राप्त किया था और राजनीती में रूचि रखने वाले नरेंद्र मोदी ने गुजरात विश्विद्यालय से राजनीती विज्ञानं से मास्टर (MA) की डिग्री हासिल किया

  21. नरेंद्र मोदी के पिता बहुत ही पिछड़े और गरीब परिवार से सम्बन्ध था अपने परिवार की जीविका के लिए वे चाय की दुकान से ही अपने परिवार का गुजारा करते थे.

  22. नरेंद्र मोदी अपने पढाई के समय के बाद खाली समय में पिताजी के दुकान में अपना हाथ बटाते थे और वे अपने दुकान और रेलवे स्टेशन पर चाय बेचते थे जिस कारण से नरेंद्र मोदी के चाय वाले के रूप में भारतीय राजीनीति में खासा चर्चा होती रहती है

  23. नरेंद्र मोदी को बचपन से नाटक मंचन, भाषण और विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेने का शौक था जिस कारण से मौका मिलने पर चुकते थे वे NCC में भी भाग लेते थे

  24. नरेंद्र मोदी एक कुशल वक्ता भी है जिसकी झलक हमे नरेंद्र मोदी के स्कूल के दिनों से ही देखने को मिलती है जब वे कही भाषण देते थे लोग उनपर मंत्रमुग्ध हो जाते है और खूब तालिया बजाते थे जिस कारण से नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और भी बढ़ जाती है.

  25. नरेंद्र मोदी बचपन से ही निडर स्वाभाव के व्यक्ति है एकबार बचपन में वे अपने गाँव के पास के तालाब से जिन्दा मगरमच्छ पकड़ लाये थे जो की माँ के कहने पर वे वापस उसी तालाब में छोड़ आये

  26. नरेंद्र मोदी की शादी महज 13 वर्ष की आयु में ही कर दिया गया था जिनका विवाह जसोदाबेन चिमनलाल मोदी से हुआ था

  27. नरेंद्र मोदी जीवन बंधन के बजाय देशहित और धार्मिक प्रवित्ति में ज्यादा रूचि रखते थे जिसके कारण एक तरह से उनका विवाह का नाता शादी के महज 2- 4 साल के अंदर ही टूट गया था.

  28. नरेंद्र मोदी बचपन के दिनों में 1965 ईसवी में भारत- पाक युद्ध के दौरान वे गुजरने वाले ट्रेनों में भारतीयों सैनिको को खूब आवभगत के साथ चाय पिलाते थे.

  29. नरेंद्र मोदी के अंदर देशभक्ति की भावना कूट कूट कर भरी हुई है जिसकी झलक स्कूल के दिनों के भाषणों से ही दिख जाती है

  30. नरेंद्र मोदी आध्यात्म की ज्ञान प्राप्ति के लिए महज 17 वर्ष की आयु में अपना घर छोडकर हिमालय पर्वत की तरफ चले गये थे

  31. हिमालय में जाने के बाद उनके परिवार वालो ने उन्हें सन्यासी मान लिया था लेकिन नरेंद्र मोदी अनेक साधू संतो के सम्पर्क में रहने के बाद 2 वर्ष बाद फिर से वे वापिस घर लौट आये थे

  32. नरेंद्र मोदी तपस्या से लौटने के बाद उनका मन घर के कार्यो में नही लगा जिस कारण से वे सक्रीय रूप से राष्ट्रीय स्वय सेवक संघ (RSS) से जुड़ गये थे.

  33. नरेंद्र मोदी के बचपन में उनके माता पिता नरिया या नरु कहकर बुलाते थे

  34. नरेंद्र मोदी बचपन से धार्मिक प्रवित्ति के व्यक्ति है उनके ऊपर माँ का आचरण का अच्छा खासा प्रभाव पड़ा है जिस कारण से वे बचपन से सन्यासी बनना चाहते थे.

  35. महज 8 वर्ष की आयु में नरेंद्र मोदी दिवाली के दिन बाल स्वय सेवक के रूप में आरएसएस से जुड़ गये गये थे

  36. नरेंद्र मोदी पूर्ण रूप से शाकाहारी से वे कभी भी सिगरेट, तम्बाकू या अन्य किसी भी नशीले प्रदार्थ का सेवन कभी भी नही करते है

  37. नरेंद्र मोदी स्वामी विवेकान्द के विचारो से अत्यधिक प्रभावित थे इसलिए अध्यात्मिक प्रवास के दौरान वे स्वामी विवेकानंद के कई मठो में गये थे.

  38. मोदी जब भी नया कार्य शुरू करते है तो अपनी माँ का आशीर्वाद लेना कभी नही भूलते है

  39. मोदी किसी भी काम को छोटा या बड़ा नही समझते है वे शाखा में भर्ती होने के बाद साफ़ सफाई जैसे अनेक छोटे कार्य खुद से करते थे

  40. नरेंद्र मोदी जब संघ में कार्यरत थे तब वे अपने कपड़े खुद धोते थे इसलिए वे कुर्ते की बाह आधा करवा लिया था जिससे कुर्ते को धोने में थोडा और कम समय लगे और वही वर्तमान में उनके ये कुर्ते ब्रांड बन गये है.

  41. नरेंद्र मोदी खाली समय लेखन और कविता दोनों का कार्य करते है

  42. नरेंद्र मोदी के ऊपर हिन्दुत्व का खासा प्रभाव देखने को मिलता है जिसके कारण उनके विरोधी उनके कट्टर हिन्दू समर्थक मानते है

  43. नरेंद्र मोदी ने गुजराती भाषा में हिन्दुत्व पर अनेक लेख लिखे है.

  44. आरएसएस के सदस्य दाढ़ी नही रखते है जबकि सबकी छवि के विपरीत नरेंद्र मोदी हल्की दाढ़ी रखते थे

  45. नरेंद्र मोदी ने मैनेजमेंट से सम्बन्धित अमेरिका में 3 महीने का कोर्स किया है जिसके कारण से वे अन्य नेताओ के विपरीत जनता से संवाद के जरिये जल्दी सम्बन्ध स्थापित कर लेते है

  46. नरेंद्र मोदी हमेसा कड़ी परिश्रम में विश्वास रखते है अपने इसी मेहनत के बल पर उन्हें भारतीय जनता पार्टी में गुजरात से दिल्ली सचिव बनाकर भेजा गया था.

  47. इंदिरा गाँधी द्वारा लगाये गये आपातकाल के दौरान आरएसएस पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया था लेकिन नरेंद्र मोदी गुपचुप तरीके से संघ के लिए सक्रीय रहे

  48. आपातकाल के दौरान नरेंद्र मोदी सरदार का भेष बनाकर वे एक जगह से दुसरे जगह तक जाते रहते थे जिस कारण से ढाई वर्षो तक ऐसा करके पुलिस को छकाते रहे.

  49. सन 2001 में केशुभाई पटेल की बीमारी के कारण पहली बार वे गुजरात के मुख्यमंत्री बने थे

  50. नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में 3 बार शपथ लिया है जिसके कारण से गुजरात में बीजेपी का एकछत्र राज्य कायम है

  51. मुख्यमंत्री के रूप अपने लगभग 13 वर्षो के कार्यकाल के दौरान नरेंद्र मोदी ने एक दिन भी अवकाश नही लिया था

  52. जब नरेंद्र मोदी पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने थे तो उनकी माता ने कहा था की बेटा रिश्वत कभी मत लेना.

  53. नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में अनेक विकास के योजनाये शुरुआत की जिसके चलते पूरे देश में गुजरात विकास मॉडल प्रसिद्द है

  54. मई 2014 में पहली बार आम चुनाव में बीजेपी की बम्पर जीत हुई जिसका श्रेय नरेंद्र मोदी को जाता है और लगभग स्पष्ट बहुमत वाली सरकार के रूप में नरेंद्र मोदी ने कार्यभार सम्भाला

  55. नरेंद्र मोदी खुद को प्रधानमन्त्री बनने के बाद किस तरह एक चायवाला भी देश का प्रधानमन्त्री बन सकता है इसे भारतीय लोकतंत्र का जीत मानते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!