1. आज तक आपने जो भी भूतो की कहानिया सुनी होंगी उसमे सिर्फ आपको रात के समय का ही जिक्र मिलता होगा. पर क्या आप को पता है की रात के समय में ही ऐसा क्या है की जिसमे भूत अपनी उपस्थिति दर्ज कराते है. ऐसा माना जाता है की रात के समय इलेक्ट्रोनिक व्यवधान कम रहता है इसी कारण से वे अपनी ज्यादा शक्ति दर्ज कर पाते है, साथ ही में इसी के कारण इनका सभी चीजो पर नियंत्रण बढ़ जाता है. इसीलिए यही वजह है की भूतो की एकांत और रात में होने की सम्भावना ज्यादा होती है.
  2. अगर वैज्ञानिकों की बात माने तो भूतो से बात करने का सबसे अच्छा तरीका है आवाज. भूत हमें तरह तरह की आवाजे निकाल कर हमसे बात करते है. सिर्फ ऐसा ही नहीं है कोई भी चीज को यहाँ वहा करके अपनी बाते हम तक पहुचाते है. और कभी कभी ऐसा होता है की कोई ऐसी चीजो को हमारे सामने लाके रख देते है जिनमे उनकी रूचि या फिर उनका उससे कोई संबंध हो.
  3. सबसे ज्यादा भूत हमारे देश भारत में दिखाई देते है ऐसा आप सोच रहे है तो ये बात आपके लिए एकदम गलत है क्यों की एक रिचर्स के मुताबिक भूत चीन के ऑफिस वर्कस को ज्यादा दिखाई देते है. और इनमे से 90% लोगो का ऐसा मानना है की भूत होते है, और कई लोगो का ऐसा मानना है की उन्होंने भूतो को देखा है और महसूस भी किया है.
  4. माना जाता है की भूत भी बोर होते है और जब भी वे बोर हो जाते है तो वो आपको परेशान करने लगते है. अधिकतर उनको आपको डराना नहीं है पर आपके साथ मजे लेना है. पर ये बात अलग है की वे अच्छे अच्छे लोगो के पसीने छुड़ा देता है.
  5. ऐसा माना जाता है की भूत सिर्फ कुछ विशेष लोगो को ही दिखाई देते है. लोगो का ऐसा मानना है की जिन लोगो का गन कमजोर होता है भूत सिर्फ उन्हें ही दिखाई देते है. बड़े बुजुर्गो का मानना है की भूत जब भी होता है तो उसकी सबसे पहली मोजुदगी का पता जानवरों को हो जाता है. अगर किसी का गण अगर मजबूत है तो उसको अनुभव एकदम कम होता है या कहे तो नहीं के बराबर होता है. बच्चो और जानवरों को भूत सबसे ज्यादा दिखाई देते है.
  6. भूत – प्रेत का मतलब लोककथा, संस्कृति में अलौकिक ( Spiritual Lords ) जीव होते हैं | जो किसी व्यक्ति के मरने पर उसकी आत्मा से बनते हैं |
  7. ऐसा माना जाता है कि जिस किसी व्यक्ति की प्रबल इच्छा मरने से पहले पूरी नही होती | तब वो मरने के बाद स्वर्ग और नरक में नही जा पाता और यही भटकता रह जाता हैं | और उसकी आत्मा इस प्रबल इच्छा को पूरी करने के लिए बेचैन रहती हैं और कभी – कभी वह भयानक भी हो जाती हैं | और अपने इच्छा पूरी करने के लिए किसी को मारने या नुकसान पहुँचाने के लिए तैयार रहती हैं |
  8. भूत – प्रेत, आत्माओं या Paranormal चीजों में मनुष्य को मानसिक शारीरिक और भावनात्मक रूप से प्रभावित करने की क्षमता होती हैं |
  9. Paranormal चीजें किसी विशेष वस्तु, किसी विशेष स्थान, किसी विशेष इंसान से जुड़ी रहने के कारण भी वे वही रहती हैं |
  10. अगर किसी व्यक्ति की असमय मृत्यु हो जाती हैं | तब भी आत्मा, शैतान का रूप ले लेती हैं |
  11. भूत – प्रेत और आत्माएँ कम प्रभावी या कम शक्तिशाली होते हैं | जबकि शैतान, दानव ( Demons ), हैवान ( Devil ) या जिन्न बहुत अधिक शक्तिशाली होते हैं |
  12. सभी Paranormal चीजों में किसी भी वस्तु को इधर से उधर करने की असामान्य शक्ति होती हैं |
  13. आत्माएँ और भूत – प्रेत उन जगहों की ओर ज्यादा आकर्षित होते हैं | जिन जगहों पर बहुत अधिक मृत्यु हुई हो |
  14. भूत ( ghost ) Magnetic Field की ओर आकर्षित होते हैं |
  15. दुनिया के लगभग 80 % लोग भूतों को Real ( वास्तविक ) मानते हैं |
  16. भूत – प्रेत जैसी सभी Paranormal चीजें इंसानों से ही ऊर्जा ( Energy ) ग्रहण करते हैं |
  17. ये सभी चीजें मनुष्यों को एक बैटरी की तरह इस्तेमाल करती हैं | कोई व्यक्ति जितना इनसे डरता है उतनी ही इनकी ऊर्जा बढ़ती जाती हैं और उस व्यक्ति की ऊर्जा घटती जाती हैं | इस तरह भूत – प्रेत मनुष्य पर हावी होने लगते हैं |
  18. सर्वे के अनुसार यह भी पाया गया है कि भूत – प्रेत जिस उम्र के व्यक्ति को दिखते हैं | तो भूत – प्रेत उस व्यक्ति के उम्र के बराबर ही अपना रूप बदल लेते हैं | जैसे – जब कोई भूत किसी बच्चे से मिलता है तो वह अपना रूप किसी बच्चे के रूप में बदल लेता हैं |
  19. सामान्यता छोटे बच्चों और जानवरों में भूतों को देखने की अधिक संभावना होती हैं | क्योंकि बच्चों में ऊर्जा का स्तर अधिक होता हैं |
  20. ऐसी बहुत सी घटनाएँ मौजूद हैं | जिनमें देखा गया है कि छोटे बच्चे भूत प्रेतों को अपना काल्पनिक दोस्त समझ लेते हैं और उनके साथ खेलते हैं |
  21. जिन जगहों पर भूत – प्रेत, हैवान, शैतान, जिन्न, दानव होते हैं | उन जगहों पर जब कोई इंसान रहता है तो ये Paranormal चीजें अपनी मौजूदगी उन इंसानों को दिखाने के लिए जाहिर करते हैं | इसलिए वे इंसानों को बार – बार डराने की कोशिश करते हैं |
  22. ऐसा माना जाता है कि इंसान मरने से पहले जो कपड़ें पहने रखता हैं | आत्मा बनने के बाद भी वह वही कपड़ें पहने रहता हैं |
  23. ऐसा भी माना जाता है कि मृत व्यक्ति की आत्मा अपने स्वयं के शरीर के आस – पास चक्कर लगाती रहती हैं | और आत्मा शरीर के अन्दर बार – बार जाने की कोशिश करती रहती हैं |
  24. भूत – प्रेत जैसी चीजों की मौजूदगी जहाँ पर होती हैं उस जगह पर आस – पास की अन्य जगहों के मुकाबले अधिक ठण्ड महसूस होती हैं | चाहे उसके आस – पास की जगह पर गर्मी ही क्यों ना हो | उस जगह पर सांस लेने में भी परेशानी होती हैं |
  25. विज्ञान के अनुसार भूतों का दिखना Optical illusion ( दृष्टि भ्रम ) का परिणाम हैं |
  26. भूत – प्रेतों का आभास होना मानसिक विकार के कारण भी होता हैं |
  27. हमारे मस्तिष्क की संवेदनशीलता के कारण हमारा मस्तिष्क हमारी आँखों द्वारा देखी गयी सभी चीजों में चेहरे ढूँढ़ने की काबिलियत के कारण भूत – प्रेतों को देखने की घटनाएँ संभव हो पाती हैं | ( ऐसा अक्सर रात के समय ज्यादा होता हैं |
  28. वैज्ञानिकों के अनुसार यह बताया जाता है कि जब किसी व्यक्ति में भूत ( ghost ) या प्रेत प्रवेश कर जाता है तो उसमें अनोखी शक्तियाँ आ जाती हैं | जिससे वे भारी से भारी चीजें उठा सकते हैं, बहुत तेज चिल्ला सकते हैं, बहुत तेज दौड़ सकते हैं या अपने आप को चोट पहुँचा सकते हैं और उन्हें कोई दर्द भी महसूस नही होता | लेकिन जब वे सामान्य स्थिती में आते है तो उन्हें दर्द का अहसास होता हैं | ऐसा हमारे शरीर में पाए जाने वाले विशेष प्रकार के रसायन एड्रीनल हार्मोन के स्राव के कारण भी होता हैं | ( उदाहरण के लिए जब किसी व्यक्ति को कुत्ता काटने के लिए उसके पीछे दौड़ता है तो कई – कई बार ऐसा देखा गया है कि कुछ लोग उस कुत्ते से भी तेज दौड़कर उससे दूर भाग जाते हैं | लेकिन जब उनसे यह पूछा जाता है कि तुम इतनी तेज कैसे भाग सके | तो उनका जवाब होता है कि मुझे नही पता कि मैं कुत्ते से तेज कैसे दौड़ पाया.
  29. वैज्ञानिकों और डॉक्टरों का मानना है कि भूत – प्रेत जैसी चीजें मनुष्य के दिमाग की उपज हैं | ये मनुष्य के दिमाग की त्रुटियों ( Errors ) के कारण होता हैं | वैज्ञानिक इन्हें Personality Disorder मानते है |
  30. अगर कोई बुरी आत्मा हो तो उसको भटकती आत्मा भी कहा जाता है, क्या आपको पता है की भूतो का भी अपना समूह होता है, इसके अंदर बड़े, छोटे ताकतवर कई तरह के भूत शामिल होते है. अक्सर ऐसा माना गया है की भूतो को ताकत बुरी आत्माओ से मिलती है.
  31. कई लोगो का ऐसा भी मानना है की भूतो को हमारा ध्यान चाहिए होता है, इसका मतलब ये है की आप उनकी मौजूदगी को रियेक्ट करे. अगर भूत अंतरी कर्ट है और किसी का उनपर ध्यान नहीं जाए तो वे तरह तरह की हरकते करने लगते है. और जैसे ही हमारा ध्यान उनपर जाता है तो वो मन ही मन प्रसन्न होने का एहसास दिलाते है, पर इसमें एक बात अलग है की वे आपको डराना चाहते है या तो आपसे कुछ कहना चाहते है.
  32. अक्सर लोगो का ऐसा मानना है की,भूत हर किसी को परेशान नहीं करते, खासकर अपने परिवार के लोगो को. भूत अपने परिवार वाले लोगो को बचने में भी काफी मदद करता है, अगर हम सड़क पे जा रहे है और कोई भयानक दुर्घटना हमारे साथ हो जाये और फिर भी हमें एक खरोच भी ना आये तो ऐसा माना जाता है की ये सब नसीब हमारे पितृओ का फल है जो हमें कुछ नहीं होने दे रहे है. और अनजान लोगो को परेशान करना उनकी आदत में होता है और वे ठीक वैसा ही करते रहते है. और लोगो को डराते है.
  33. दोस्तों अगर आप कोलेज में पढ़े है तो आपको भूत बुलाने का एक तरीका तो पता ही होगा. जी क्या याद आया ना “प्लेटचिट” इसके अंदर गिलास पर कागज या कैरमबोर्ड जैसी चीज रखकर उनमे उलटे अक्षर रखे जाते है. और लोग इस प्रक्रिया को कई अलग-अलग तरीको से करते है. ये प्रक्रिया सूर्यास्त के बाद की जाती है, और उसमे भूतो का आह्वान किया जात है. इसके अंदर आत्मा आपसे बात करेगी की नहीं ये उनके मूड पर डिपेंड करता है, अगर कोई अच्छी आत्मा आजाये तो वो आपके हर एक सवाल का जावाब आपको दे देती है पर अगर कोई बुरी आत्मा आजाये तो आपको उसको वापिस कैसे भेजा जाये वो भी आना चाहिए, अगर उसको वापिस नहीं भेजा और “प्लेटचिट” अधुरा छोड़ कर खड़े हो जाते है तो वो आत्मा आपकी दुनिया में शामिल हो जाएगी और आपको हेरान-परेशान कर देंगी. प्लेंचीट में अंग्रेजी की वर्णमाला और 0 से लेकर 9 तक की संख्या को एक साथ लिखने का तरीका है, और इसमें साथ ही यस और नो भी लिखा जाता है. कमज़ोर दिल वाले ये प्रक्रिया बिलकुल भी ना करे.
  34. दुनिया में हमारी पसंद और ना पसंद होती है ठीक वैसे ही भूतो की भी पसंद और ना पसंद भी होती है, भूतो को गंध बहुत पसंद होती है, और इसमें भी खास कर इत्र की. इत्र की महक उनको बहुत ही अच्छी लगती है. आपने कई सारी जगह पर सुना या महसूस करा होगा की कुछ जगह पर इत्र की महक ज्यादा आती है तो यही कहो भूतो का वास भी है. मिष्ठानों के प्रति भी उनकी रूचि ज्यादा होती है. मिठाई के भी ये दीवाने होते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!