1. साँप के कान नहीं होते हैं, किसी भी प्रकार की आवाज़ के कंपन साँप के अंदर के कानों तक, उसके चमड़ी और हड्डियों द्वारा पहुँचती है।
  2. कहा जाता है कि कई साँप बहुत ज़्यादा खाने के बाद, विस्फोटित हो जाते हैं।
  3. कुछ साँप के 200 दाँत होते हैं। लेकिन ये दाँत खाने को चबाने के लिए नहीं इस्तेमाल किया जाता है। ये दाँत उनके मुँह में पीछे की दिशा में होते हैं ताकि साँप के शिकार उसके चंगुल से ना भाग पाएँ।
  4. उड़ने वाले साँप के पाँच प्रकार होते हैं।
  5. लेकिन नेवले साँप के विष से प्रतिरक्षित होते हैं।
  6. अपने शिकारियों को अपने आप से दूर भगाने के लिए, साँप अपने आप को इतने गंदे और दुर्गंधित कर देते हैं, कि इनके शिकारी खुद ही इनसे दूर भाग जाते हैं।
  7. दुनिया का सबसे भारी साँप आनाकॉन्डा है। इसका वज़न 270 किलो से भी ज़्यादा है।
  8. अगर इंसान साँप होते, तो वे अपने आप से 4 गुना ज़्यादा लम्बे होते।
  9. साँप के लगभग 400 पसलियाँ (ribs) होतीं हैं।
  10. लगभग 70% साँप अंडे देते हैं। बाकी के 30% ठंड की जगह में रहते हैं जिसके कारण वे अंडे नहीं देते हैं।
  11. कुछ साँप के तीन फेफड़े होते हैं। और कुछ साँप जिनके दो फेफड़े होते हैं, उनका दाँया फिफड़ा, बाएँ फेफड़े से बड़ा होता है।
  12. साल में लगभग 40,000 लोग साँप के कारण मारे जाते हैं। आधे से ज़्यादा मौत, भारत में ही हुए हैं।
  13. साँप कई सारे ऐतिहासिक, धार्मिक और सांस्कृतिक कहानियों से जुड़े हुए है।
  14. भारत में कई लोग साँप की पूजा करते हैं और प्रसाद के तौर पर उसे दूध चढ़ाते हैं।
  15. हर साँप आकार में एक दूसरे से अलग होते हैं।
  16. सबसे लम्बा सांप “पाइथन रेटिकुलटेस” ( Python Reticulatus) होता है जो कि 30 फ़ीट तक लंबा हो सकता है।
  17. साँप किसी भी चीज को चबाकर नही खाते बल्कि सीधे ही निगल जाते हैं. साँप मेंढ़को, छिपकलियों , पक्षियों, चुहों और अपने से छोटे साँपो को भी खाते है. अफ्रीका का अजगर तो छोटी गाय को भी निगल जाता है. नेशनल ज्योग्रफिक के मुताबिक, सांप एक बार में खुद से 70 से 100 प्रतिशत बड़ा शिकार भी निगल सकते हैं।
  18. साँप अपने जबड़े के निचले हिस्से को जमीन से लगाकर धरती से उठने वाली तरंगों और थोड़ी सी हलचल को महसुस कर लेता है जिससे भुकंप और सुनामी जैसे विनाशकारी तुफान के बारे में जानकारी देने की क्षमता होती है.
  19. पानी में रहने वाले सांप अपनी स्किन से भी कुछ मात्रा मे सांस ले सकते है, जिससे कि वो शिकार कि तलाश मे पानी मे देर तक रह सकते है। साँपो को पानी की जरूरत भी ज्यादा नही होती. यह अपने शिकार से ही पानी प्राप्त करते है। कई सांप काफी दिनों तक भूखे रह सकते हैं। जैसे कि किंग कोबरा बिना खाए महीनों रह सकता है।
  20. सांप अपने नाक से नहीं बल्कि अपनी जीभ से सूंघते हैं। अपनी जीभ से सांप आसपास के माहौल का पता लगाते हैं।
  21. वैसे तो सांप दुनिया के हर कोने में पाए जाते हैं, लेकिन सांपों को ठंड पसंद नहीं है।
  22. सांप साल में कम से कम तीन बार अपनी पूरी चमड़ी निकालते हैं।
  23. दक्षिणी अफ्रीका मे पाए जाने वाले “हॉर्नड वाईपर” (Horned Viper) के सर पे दो सिंग होते है। सिंग वाला वाईपर स्नेक।
  24. सांपो से जुड़ा एक और महत्व्पूर्ण तथ्य यह भी है की साँपों कि 70 % प्रजातियां ही अंडे देती है बाकि की 30 % प्रजातियां बच्चे पैदा करती है। साँप को कोई आवाज सुनाई नहीं देती. साँप बहरे होते हैं. हवा में पैदा होने वाली ध्वनि तरंगो का साँप पर कोई प्रभाव नही होता. बीन की आवाज सुनकर साँप का आना केवल लोगों में फैला भ्रम है.
  25.  शेर जैसे भयंकर जानवर को तो हम मानव थोड़ी-बहुत ट्रेनिंग देकर कुछ सिखा सकते हैं पर साँप को नहीं. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि साँप कुछ सीख ही नही सकते. उनके दिमाग में अन्य जीव की तरह सेरिब्रल हेमीस्फियर नही पाया जाता है. दिमाग का यही हिस्सा सीखने की क्रिया को नियंत्रित करता है. साँप के दिमाग में यह हिस्सा ही नही होता, इस लिए वह कुछ सीखते ही नही है.
  26. हरा एनाकोन्डा सबसे लंबा सांप नहीं, बल्कि सबसे वजनी सांप होता है। ये 550 पाउंड तक के हो सकते हैं।
  27. ब्राजील में स्थित स्नेक आइलैंड, सांपो की सबसे घनी आबादी वाली जगह है। यहां पर हर एक वर्ग मीटर में पांच सांप रहते है यानि कि आपके सिंगल बेड जितनी जगह में दस साँप और डबल बेड जितनी जगह में बीस सांप, वो भी ज़हरीले गोल्डन विट वाईपर।
  28. किंग कोबरा जहरीले साँपो में सबसे लम्बे साँप होते है और आमतौर पर इनकी लंम्बाई 18 फुट तक होती है. इनका जहर इतना ज्यादा खतरनाक होता है कि उसकी मात्र 7 मि. ली. मात्रा 20 आदमी या 1 हाथी को मार सकती है।
  29. अफ्रीका में पाए जाने वाला ब्लैक माम्बा स्नेक (Black Mamba) साक्षात यमराज है क्योकि इसके द्वारा काटे गये लोगो में से 95 % लोगो की मौत हो जाती है।
  30. अगर कभी सांप पीछे पड़ जाए तो घबराएं नहीं बस सांप की तरह टेढ़ा मेढ़ा यानी जिग जैग बनाकर दौड़ें। सीधा दौड़ने पर सांप आपका तेजी से पीछे कर सकता है लेकिन टेढ़ा दौड़ने पर सांप लंबे समय तक आपका पीछा नहीं कर पाएगा।
  31. सांप साल मे दो-तीन बार अपनी त्वचा बदलते है. इस क्रिया को केंचुली उतारना कहते है. यह प्रक्रिया कई दिनों मे पूरी होती है.
  32. सांप सपेरों की बीन की धुन से नहीं, बल्कि उनके हाव-भावों से हरकत करते है, क्योंकि सांप जन्मजात बहरे होते हैं.
  33. सांप अपनी आँखे बंद नही कर सकते है और ना ही वे आँखे झपका सकते है. इसलिए वह खुली आँखों के साथ ही सोते हैं.
  34. कनाडा के मनिटोबा प्रान्त मे हर साल 30,000 गार्टर सांप, शीत निद्रा के बाद मेटिंग यानि संम्भोग क्रिया के लिए इकठ्ठा होते हैं. यह धरती पर होने वाली सबसे बड़ी Sex Orgy यानि सामूहिक सेक्स क्रिया है.
  35. सन 2012 में एक नेपाल के किसान मोहम्मद सल्मोदीन को एक कोबरा ने काट लिया. किसान ने गुस्से में कोबरा को काट लिया, जिससे कोबरा वहीं मर गया, लेकिन किसान अपने काम पर चला गया. उस पर जहर का कोई असर नहीं हुआ!
  36. कहा जाता है कि करीबन 94-112 मिलियन साल पहले, साँप के चार पैर हुआ करते थे।
  37. साँप की खास बात ये है कि वे किसी भी प्रकार के वातावरण में रह सकते हैं। साँप को 16,000 फीट की ऊँचाई पर, हिमालय में भी देखा गया है।
  38. साँप से भी ज़्यादा खतरा इंसानों को मच्छर से है, क्योंकि मच्छर के कारण करोड़ों लोग मारे जाते हैं।
  39. ये जानवर कम से कम 2 साल तक बिना कुछ खाए जी सकता है।
  40. साँप बड़ी उबासी ले पाते हैं।
  41. जब कुछ साँप डरे हुए होते हैं, या अपनी तरफ किसी खतरे को महसूस करते हैं< तो वे तुरंत मर जाने का नाटक करते हैं।
  42. एक कोब्रा, एक हाथी को मारने में समर्थ रहता है।
  43. साँप का जीवन काल करीबन 9 साल का होता है।
  44. एक साँप के कितने बच्चे होने वाले हैं, यह बात वो कितना खाना खाता है, उस पर आधारित है।
  45. साँप को स्वस्थ रहने के लिए साल में सिर्फ 6-30 बार खाना खाने की ज़रूरत है।
  46. साँप को पत्थर और रास्ते पर लेटना पसंद आता है, क्योंकि ये जगह धूप की गरमाहट को ग्रहण करते हैं, जिसके कारण साँप भी गरम रहते हैं।
  47. दुनिया का सबसे ज़हरीला साँप कोब्रा होता है।
  48. ये साँप बहुत ही समझदार और चालाक साबित हुआ है।
  49. ज़्यादातर साँप को अपने बच्चों की परवाह नहीं होती है। लेकिन कोब्रा अपने बच्चों की बहुत अच्छे से देख-रेख करता है।
  50. ये अपने अंडों को सुरक्षित रखते हैं और अपने दुश्मनों से बचाकर रखते हैं।
  51. कुछ ज़हीरले साँप, अपने शिकार को विष देने के बदले, गलती से खुद को ही विष देकर मर जाते हैं।
  52. दुनिया का सबसे छोटा साँप 4 इंच लम्बा होता है।
  53. उम्र के साथ एक साँप धीमे रफ्तार से बढ़ने लगता है।
  54. ज़्यादातर साँप इंसानों को हानी नहीं पहुँचाते हैं।
  55. ये चूहे और पक्षियों को नियंत्रण में रखकर हमारे वातावरण को संतुलित रखते हैं।
  56. कुछ साँप के दो सिर होते हैं। ऐसी स्थिति में कभी-कभी दोनों सिर खाने के लिए एक दूसरे के साथ झगड़ते हैं।
  57. साँप मांसाहारी जीव होते हैं।
  58. इनकी आँखें नहीं होतीं हैं।
  59. साँप अपने खाने को चबा नहीं सकते हैं, इसलिए उन्हें अपने खाने को ऐसे ही सिर्फ गिटना पड़ता है।
  60. इनके जबड़े बहुत ही फ्लेक्सिबल होने के कारण, अपने से बड़े जानवर को खाने में ये समर्थ हैं।
  61. अंटार्टिका के अलावा, साँप दुनिया भर में पाए जाते हैं।
  62. साँप के कान उनके शरीर के अंदर होते हैं।
  63. जब एक सपेरा, साँप के सामने अपना बीन बजाता है, तो साँप बीन की आवाज़ से नहीं बल्की उसके हिलने के तरीके के कारण उचित प्रतिक्रिया देता है।
  64. साँप के 3000 प्रकार होते हैं।
  65. उनका शरीर अन्य जानवरों से बहुत ही अलग होता है, जिसके कारण छोटे दिखने पर भी, ये बड़े जानवर को भी खा पाते हैं।
  66. साँप की चमड़ी सूखी और कोमल होती है।
  67. साँप की चमड़ी साल में बहुत बार झड़ जाती है।
  68. कुछ प्रकार के साँप विष के द्वारा अपने शिकार को मारते हैं। इसलिए वे ज़हरीले कहलाते हैं।
  69. साँप किसी भी चीज़ को अपने जीभ से सूँघते हैं।
  70. पाइथन नाम का एक साँप अपने आप को अपने शिकार के शरीर पर इस तरह लपेट लेता है, कि उसका शिकार घुटन से मर जाता है।
  71. पानी में तैरने वाले साँप, अपनी चमड़ी से साँस ले पाते हैं।
  72. पाइथन दुनिया का सबसे ल्म्बा साँप है।
  73. जिस साँप का सिर काट दिया जाए, वो साँप अब भी हम पर हमला कर सकता है। इस तरह के हमले में अक्सर उचित से ज़्यादा ज़हर पाया जाता है।
  74. साँप के प्रकार में से लगभग 750 साँप ज़हरीले होते हैं, जिनमें से 250 साँप के एक बार काटने से ही, इंसान की मौत हो सकती है।
  75. लोगों में अक्सर साँप के डर से जुड़ी हुईं बीमारियाँ पाई गई है।
  76. जितना ज़ादा एक साँप का शरीर हो, उतनी ही तेज़ी से वो अपने शिकार को खा पाता है।
  77. नेवले और साँप के बीच बहुत अस्कर लड़ाई होती है, लेकिन बहुत ही कम, नेवले की जीत होती है।
  78. विश्व का सबसे छोटा सांप थ्रेड स्नेक (धागा सांप) है. यह कैरेबियन सागर के सेंट लुसिया माटिनिक तथा बारबडोस के द्वीपों में पाया जाता है. जैसा कि इसके नाम से जाहिर है, यह अंत्यंत पतला सांप 10-12 सेंटीमीटर तक लंबा होता है.
  79. सांपों के शरीर का तापमान वातावरण के ताप के अनुसार घटता-बढ़ता रहता है.
  80. सांप भोजन को चबाकर नहीं खाता है, बल्कि इसे साबुत निगल जाता है. अधिकांश सांपों के जबड़े इनके सिर से भी बड़े शिकार को निगल सकने के लिए बने होते हैं. उदहारण के लिए अजगर. गौरतलब है कि सांप अपना मुंह 150 डिग्री तक खोल सकते है.
  81. दुनिया में सांपों की 3,000 से ज़्यादा प्रजातियां पाई जाती है, जिसमें से लगभग 20% प्रजातियां ही ज़हरीली होती हैं. भारत में सांपों की करीब 300 प्रजातियां पाई जाती है, जिसमें से 50 प्रजातियां विषैली होती है.
  82. विश्व का सबसे लंबा सांप पाइथन रेटिकुलटेस (Python Reticulatus) होता है, जो कि 30 फ़ीट तक लंबा हो सकता है. यह दक्षिण-पूर्व एशिया में पाया जाता हैं.
  83. न्यूजीलैंड, आइसलैंड तथा अंटार्टिका ऐसे देश है, जहा सांप बिल्कुल नहीं पाए जाते.
  84. अमेरिका में किंग्सविले स्थित नेचुरल टाक्सिन्स रिसर्च सेंटर के अनुसार, दुनिया के सबसे घातक सांपों में पाए जाने वाले जानलेवा जहर का इस्तेमाल भविष्य में कैंसर की दवा बनाने के लिए हो सकता है. विश्व भर में कई प्रयोगशालाओं में चल रहे प्रयोगों से पता चला है कि कुछ सांपों के जहर में एक खास किस्म का कंपाउंड पाया जाता है, जो मानव शरीर के भीतर कैंसर की जड़ माने जाने वाले ट्यूमरों की वृद्धि पर पूर्ण-विराम लगा देता है.
  85. पानी में रहने वाले सांप अपनी त्वचा (स्किन) से भी कुछ मात्रा मे सांस ले सकते है, जिससे कि वो शिकार की तलाश मे पानी मे देर तक रह सकते हैं.
  86. दक्षिणी अफ्रीका मे पाए जाने वाले हॉर्नड वाईपर के सिर पे दो सींग होते है.
  87. अफ्रीका में पाए जाने वाला ब्लैक माम्बा (Black Mamba) सांप के द्वारा काटे गए लोगो में से 99% लोगो की मौत हो जाती है.
  88. सांपो का इस धरती पर अस्तित्व 130 मिलियन सालो से है यानि कि डायनसोर के समय से।
  89. दुनिया में सांपों कि 2500 से अधिक प्रजातियां पाई जाती है, इनमें से लगभग 20% प्रजातियाँ ज़हरीली होती है।
  90. दुनिया के दो छोटे देश न्यूजीलैण्ड, आइसलैंड तथा अंटार्टिका मे स्नेक नही पाये जाते है।
  91. भारत में सांपों कि करीब 300 किस्मे पाई जाती है, जिनमे से 50 विषैली होती है।
  92. हर साल सांपो द्वारा 100,000 लोग मारे जाते है।
  93. भारत में हर साल लगभग 2.50 लाख लोग सांप के काटने का शिकार होते है जिनमे से करीब 50000 लोगो की मौत हो जाती है जबकि सरकारी आंकड़ा मात्र 20 हजार का है।
  94. कोई भी सांप बिना छेड़े कभी नही काटता है, काटने कि अधिकतर घटनायें गलती से उन पर पैर पड़ जाने के कारण होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!